गाँवों का भारत

Saturday, February 4, 2012

कलेंडर

कलेंडर 
नईखे होला 
खाली एक गो कलेंडर 
तारीख देखले के अलावा 
पिताजी के खातिन
ई कलेंडर होला 
राशि मुहूरत 
अउर मूल-विचार
जनले कै साधन
सबके शादी-बियाहे कै लेखा जोखा 
मेहरारू खातिन
ई कलेंडर होला
बरत तालिका 
दुधे कै हिसाब 
गैस बदलले कै दिन 
लईकन खातिन 
ई कलेंडर होला
स्कूले कै किरिया- कलाप
अउर दोस्तन कै जन्मदिन
याद रखले कै साधन 
हमरे खातिन होला
ई कलेंडर
मोबाइल नम्बरन कै जखीरा
नेट पैक अउर मोबाइल 
रिचारज कईले कै दिन
अउर ढेर गो जरुरी बातन खातिन 
मुफत में एक गो रफ कापी 
ई तरीका से साल के आखिर में 
आवत- आवत ई कलेंडर
बन जाला एक गो जरुरी दस्तावेज. 

16 comments:

  1. एक्के बार में रउआ इयाद करा देनी ह हमार दादा जी के.. हई दस्तावेज़ पहिला साल में होखेला जरूरी, बाकी आगे जाकर इतिहास हो जा ला.. बहुते नीमन कबिताई कइनिं ह भाई जी!!

    ReplyDelete
  2. :) बहुत बढ़िया , सच में एक ज़रूरी दस्तावेज

    ReplyDelete
  3. आगत-विगत का लेखा-जोखा कैलेंडर.

    ReplyDelete
  4. डायरी का भी काम दे रह है ☺

    ReplyDelete
  5. कलेंडर और उस पर बढ़िया प्रस्तुति.

    ReplyDelete
  6. एक कलेंडर नहीं ये दस्तावेज़ है ... पूरी जिंदगी उतर आती है इन तारीखों पे ...

    ReplyDelete
  7. भोजपुरी कविता का आनंद लेने की पूरी कोशिश की है मैंने

    ReplyDelete
  8. मेरा मन कह रहा है कि कह दूँ:-
    दमादम मस्त कलंदर
    नहीं .......बल्कि .........
    दमादम मस्त कैलेण्डर .

    ReplyDelete
  9. वाकई...
    हम तो एक साल पुराना केलेंडर भी सम्हाले रहते हैं..
    :-)
    अच्छी रचना.

    ReplyDelete
  10. waah ji waah, calender ab celander hi nahi rha,,ye to pre saal ka lekha jokha ho gya hai..waah badhai

    ReplyDelete
  11. भाषा मुझे समझ कम आ रही है.
    पर भाव बखूबी समझ आ रहे हैं.
    बहुत सुन्दर प्रस्तुति है आपकी.

    आभार.

    मेरे ब्लॉग पर आईएगा,उपेन्द्र जी.

    ReplyDelete
  12. इस कलेंडर में इतनी साडी बातो का समावेश है की सच में यह कलेंडर अब कलेंडर न होके दस्तावज हो गया है
    कलेंडर पर सुन्दर प्रस्तुति....
    word verification hata dijiye....

    ReplyDelete
  13. please follow this path -Login-Dashboard-settings-comments-show word verification - (NO)
    aisa karane se word verification hat jayega
    try kijiye....

    ReplyDelete
  14. calender par par likhi aapki prastuti waqai me bahut hi kaam ki hai.
    shat -pratishat sahi baat likhi hai aapne ------
    badhai
    poonam

    ReplyDelete